किसान आंदोलन का दिखा रंग, BJP – JJP को हरियाणा में झटका तो कांग्रेस को मिली सफलता

हरियाणा नगर निगम चुनावों के परिणाम लगभग सामने आ चुके हैं जिसमें सत्ताधारी BJP – JJP गठबंधन को करारा झटका लगा है. विधानसभा चुनाव के 1 साल बाद हुए इस चुनाव को हरियाणा सरकार की प्रतिष्ठा से जोड़ कर देखा जा रहा था. BJP का निर्दलियों से भी पीछे रह जाना इस बात का प्रमाण है कि नगर निगम चुनावों पर किसान आंदोलन का असर देखा जा सकता है.

सत्ताधारी गठबंधन को सोनीपत और अंबाला में मेयर पद से हाथ धोना पड़ा है. उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी इस स्थानीय निकाय चुनाव में अपने ही गढ़ हिसार के उकलाना और रेवाड़ी के धारुहेरा में बुरी तरह हार गई है. वहीं BJP ने पंचकूला नगर निगम के मेयर पद का चुनाव जीत लिया है लेकिन अन्य जगहों पर उसे मात मिली है. कांग्रेस ने 14 हजार वोटों के अंतर से सोनीपत में BJP को हरा कर जीत दर्ज की है. विजेता निखिल मदान सोनीपत के पहले मेयर होंगे.

रोहतक के सांपला नगर पालिका चुनाव में चेयरमेन पद पर BJP उम्मीदवार सोनू को निर्दलीय प्रत्याशी पूजा ने बड़े अंतर से शिकस्त दे दी है. निर्दलीय प्रत्याशी कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ता है पर कांग्रेस यहां सिंबल पर नहीं लड़ी थी. कई जगह ऐसे हैं जहाँ BJP और JJP के उम्मीदवारों को निर्दलीय प्रत्याशियों द्वारा बड़ी हार मिली है. कुल 3 निगम, 3 पालिकाओं और 1 परिषद में हुए 7 सीधे चुनाव में कांग्रेस को 5 सीटों पर और सत्ताधारी BJP-JJP को 2 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: