नजरिया : श्रीनिवास की हुई तरक्की, “कांग्रेस में नहीं होती प्रतिभा और मेहनत की कद्र” का राग अलापने वालों को करारा जवाब है?

आज कांग्रेस अध्यक्ष ने बड़ा फैसला लेते हुए तत्काल प्रभाव से भारतीय युवा कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी को IYC का नया अध्यक्ष बना दिया है. कर्नाटक राज्य से आने वाले श्रीनिवास को कोरोना महामारी के दौरान काफी लोकप्रियता और तारीफ मिली थी. श्रीनिवास को राहुल गाँधी का करीबी माना जाता है. वो अपने ट्वीट के माध्यम से खुद को राहुल गाँधी का सिपाही बताते रहे हैं.

INC image

श्रीनिवास को यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता अपना आदर्श मानते हैं और इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि जबसे श्रीनिवास ने IYC के अंतरिम अध्यक्ष का पद संभाला तभी से IYC प्रत्येक राज्य में ऐक्टिव हो गई. चाहे कहीं बाढ़ हो, भूस्खलन हो या राजनीतिक विरोध प्रदर्शन करना हो, IYC के कार्यकर्ताओं ने पूरे जोश के साथ अपनी उपस्थिति दर्ज करानी शुरू कर दी. एक तरफ सोशल मीडिया पर IYC मजबूत हुई तो दूसरी तरफ घरों में बंद रहने वाले कार्यकर्ताओं को श्रीनिवास बी वी ने सड़क पर उतर कर संघर्ष करना और जनता के बीच मदद के लिए खड़ा रहना सीख दिया.

File photo

हाल के दिनों में जिन राज्यों में किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा आई, श्रीनिवास अपने कार्यकर्ताओं के साथ जनता की हर संभव मदद करने के लिए मौजूद रहे. इसका सबसे बड़ा उदाहरण कोरोना महामारी का है. लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों और गरीब लोग कई प्रकार की परेशानियां झेल रहे थे और इसी दौरान श्रीनिवास बी वी IYC कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर लोगों को बीच पानी – भोजन, वस्त्र, मास्क, सेनिटाइजर बांट रहे थे और जिन्हें घर जाना था उनकी मदद कर रहे थे. हॉस्पिटल में किसी को बेड की जरूरत पड़े या खुन की, लोग श्रीनिवास और IYC के ट्विटर हेन्डल को टैग करके मदद मांगते और IYC टीम के द्वारा उनकी हेल्प की जाती थी. IYC लगभग हर राज्य में ऐक्टिव हुई क्योंकि उनके पास खुद जमीन पर उतर कर काम करने वाला ऐक्टिव अध्यक्ष है.

File photo

किसी भी अप्रिय घटना या आंदोलन के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ट्वीट करके कांग्रेस कार्यकर्ताओं से लोगों की मदद करने की अपील करते रहते हैं और उनकी इस अपील पर IYC लोगों की मदद के लिए जमीन पर उतर आती है. आज भी जब किसान आंदोलन चल रहा है तब हम देख रहे हैं कि IYC कार्यकर्ताओं द्वारा श्रीनिवास की अगुआई में किसानों को खाने – पीने की मदद, दूध, सब्जी और वस्त्र आदि मुहैया कराया जा रहा है. IYC किसानों के लिए मेडिकल कैम्प भी लगा रही है और लंगर भी.

श्रीनिवास की संगठन और पार्टी नेतृत्व के तरफ ईमानदारी, कड़ी मेहनत और लगन देखकर ही कांग्रेस अध्यक्ष ने IYC का अध्यक्ष नियुक्त किया है. यह सबकुछ उन्हें 1 दिन में नहीं मिला. वो लगातार मेहनत करते रहे और संगठन को मजबूत किया तब जाकर उन्हें उनकी मेहनत का फल दिया गया. यह एक सीख है उन लोगों के लिए जो राजनीति में प्रवेश ही लेते हैं यह सोचकर कि 1 दिन, या 1 महीने, या 1 साल में उन्हें ऊँचा पद मिल जाएगा. राजनीति लंबा संघर्ष मांगती है और कभी हार न मानने वाली भावना मांगती है. आज जब कांग्रेस बुरे दौर से गुजर रही है और कई बड़े तथा नामी नेता पार्टी छोड़ कर जा रहे हैं या जा चुके हैं, ऐसे वक्त में श्रीनिवास जैसे लोगों को आगे बढ़ा कर पार्टी उन लोगों को करारा जवाब दे सकती है जो बहाना बनाते हुए कहते हैं कि कांग्रेस में तो मेहनत और प्रतिभा के लिए कोई स्थान ही नहीं है. वैसे श्रीनिवास बी वी परिवारवाद की प्रोडक्ट नहीं हैं तो यह उस झूठ का भी जवाब है जिसमें कहा जाता है कि कांग्रेस परिवारवाद को ही बढ़ावा देती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: