देश की पहली प्राइवेट ट्रेन “तेजस” का परिचालन हुआ बंद तो अल्का लाम्बा ने यूँ साधा निशाना, वायरल हुआ ट्वीट.

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन के नाम से मशहूर तेजस एक्सप्रेस का परिचालन बंद कर दिया गया है. सरकार ने दलील दी है कि इस ट्रेन से कोई मुनाफा नहीं हो रहा था बल्कि इसके जगह पर रोज लाखो का घाटा हो रहा है. मगर अब जब इस ट्रेन का परिचालन अगले आदेश तक बंद किया जा चूका है तब इस मुद्दे पर लोग ख़ूब सरकार को और निजीकरण की बात करने वालों को ट्रोल कर रहें हैं. आपको बता दें की तेजस ट्रेन पहली प्राइवेट ट्रेन है जिसमे एयरप्लेन जैसी फैसिलिटी थी मगर इस वक्त में इस ट्रेन में रोजाना बस 20-40 लोग हीं सफ़र कर रहें थें जिस कारण घाटा हो रहा था.

सोर्स : यहाँ क्लिक करें.

तेजस ट्रेन को भारत में रेल का भविष्य बताया गया था, इसके जरिए आम आदमी की मानी जाने वाली रेलवे को प्राइवेट हाथों में देने की बातों को ख़ूब हवा दी गई थी. निजीकरण के समर्थकों ने यहाँ तक दलीले दी थी कि अब रेलवे में वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी मिलेगी और रेलवे एयरप्लेन की तरह आकर्षक सुविधा देने लगेगा. हालांकि इस ट्रेन का किराया इतना अधिक था कि ये भारत की बहुसंख्यक आबादी की पहुँच से कोसो दूर था. उस वक्त भी जब इस ट्रेन को शुरू किया जा रहा था तब कुछ लोगो ने ये आशंका जताई थी कि भविष्य में बिना सवारी के हीं इस ट्रेन को पटरी पर दौरना पड़ेगा क्यूंकि उच्च वर्ग के लोग एयरप्लेन की जगह रेल को कभी तरजीह नहीं देंगे और आम आदमी इस ट्रेन का किराया हीं नहीं भर पायेगा.

सोर्स : यहाँ क्लिक करें

अब इस फैसले के बाद से लोगो ने सोशल मीडिया पर सरकार की जमकर खिचाई की. कांग्रेस नेत्री अल्का लाम्बा ने भी ट्वीट कर केंद्र सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर किए जा रहे निजीकरण पर सीधा हमला बोला है. अल्का लाम्बा का ये ट्वीट ख़ूब वायरल हो रहा है. सोशल मीडिया पर लोग अल्का लाम्बा के इस ट्वीट का इस्तेमाल कर सरकार की मंशा पर सवाल उठा रहें हैं. अल्का लाम्बा ने अपने ट्वीट में लिखा,” रेल्वे का निजीकरण : परिणाम : घाटा हुआ तो सरकार का, मुनाफ़ा हुआ तो मोदी मित्रों का. Corporate Train Tejas Ceased Operations From Today – आज से कॉरपोरेट ट्रेन तेजस का संचालन बंद, रोज हो रहा था लाखों का घाटा – Amar Ujala

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: